Quotes New

Audio

Forum

Read

Contests


Write

Sign in
Wohoo!,
Dear user,



manisha sinha

By profession I am a physiotherapist but writing is my hobby my passion everything.

  Literary Colonel

A Letter To Someone Special

Drama

Though you don’t need me, You have someone to love.

1    312 58

एक कोशिश

Abstract

औरों की नक़ल करने की ज़िद्दोजहद छोड़ दी है।

1    0 0

मेरा ख़त...मेरी ज़ुबानी

Romance

तेरे इंतज़ार की बेक़रारी शब्दों में पिरो सा डाला है।

1    12 2

नई उमंग

Others

समय का पहिया घूमता जाता है

1    7 1

जुनून

Romance

रूबरू तो आकर मिलो कभी तुम बस ख़्वाबों में आती जाती हो।

1    50 15

हमारा देश

Inspirational

आए थे अतिथि बनकर वो

1    56 15

कब तक

Abstract

“फूट डालो और राज करो “हम ये इजाज़त आख़िर कब तक देंगे।

1    344 64

सपनों का देश

Others

मीरा की भक्ति से मोहित भगवान ज़मीन पर आते थे

1    175 28

अब बस कर

Inspirational

अब तो बस कर तू अपनी ढोंग ये लाचारी की

1    104 16

कहानी तेरी मेरी

Others

अब मेरी भी ज़िद है

1    117 10

गर्व

Others

जो मैं एक लड़का होती ना बँधती रस्मों की बेड़ियों में, ना घर के इज़्ज़त की ज़िम्मेदा

1    108 13

अधूरी दास्तान

Abstract

कुछ तुम्हारी सुनना, कुछ अपनी सुनाना चाहता हूँ।

1    306 18

बेवजह

Romance

लेकिन तुम मुझे क्यों याद कर अब बेवजह तड़पते जा रहे हो।

1    54 4

ज़िद

Abstract

और दिल ने भी, ना सुनने की शायद, क़सम सी ले रखी है।

1    224 52

ये .. रिश्ते

Children Stories

पेड़ खड़ा था बुत बनकर

2    87 14

गुनहगार

Tragedy

जमाना चाहे बेरुखी करे तो कोई गम नहीं, मगर अपने ही इल्जाम लगाए तो क्या कहे उस दर्द को...

1    298 9

ये प्यार

Drama

तुमसे प्यार जो किया बस एक भूल हो गई।

1    301 57

कैद

Others

मन के लालच की कैद से कैसे सजा मिलती है और सच का साथ देने से कैसे शीश उपर उठता है...!!!

1    42 3

रु ब रू

Others

गुमनाम ख़यालों की नज़्में बना मैं गुनगुना रहा हूँ , बड़ी अरसों के बाद खुद से गुफ़्तग

1    43 4

आख़िर क्यों

Inspirational

सीता की अग्निपरीक्षा से सबको साबित करना क्या है ?

1    285 17

एक सोच

Inspirational

वसुदेव कूटुंबकम के मायने

1    528 71

मेरे पापा

Children Stories

पापा मेरे बरगद जैसे

1    87 9

अधूरी ख्वाहिशें

Fantasy

डाइरी के बचे हुए पन्ने

1    147 22

इमोशनल अत्याचार

Abstract Tragedy

अगर प्यार इसे कहते हैं तो, “इमोशनल अत्याचार “की परिभाषा क्या है।

1    352 51

व्यवहार

Abstract

बनावटी ना उसकी बातें थी ना दिखावे की अदा ही सीखी थी। और कुछ कहना चाहा कभी तो

1    41 4

मैं नदी हूँ

Drama

लूटा है फिर सबने मिलकर ना समझ ही पाए, बलिदान को मेरे।

1    408 61

आशाएँ

Inspirational

मन के खोखलेपन को अब ना मंज़िल की रुकावट बनने दे।

1    161 27

हार जीत

Drama

ख़्वाहिशों की पोटली, आख़िरकार फैंकनी पड़ी।

1    297 40

मौत

Abstract

लाख लोग रोते रहें झकझोर मुझे उठाते रहें। बेपरवाह सा मैं, बस मुस्कुरा रहा था

1    28 1

उममीद

Inspirational

खोया जरूर है मैंने बहुत, मगर कुछ पाने की ललक अभी तक बाक़ी है।

1    402 46

सारथी

Abstract

रोक ले तू स्वार्थ के इस रकत रंजित बाज़ुओं को। पोंछ दे अब आँख से भी कुंठा के बहते आँसुओं को।

1    377 39

कुछ ऐसे भी होते हैं

Others

उनकी ज़रूरत जो पड़ जाए बहाना बना वो टालते हैं। मगर दिखावे के लिए बड़े वादे तक कर जाते हैं।

1    602 35

कैसे करें बयान

Others

आँखों से जो छलका, कहीं अफसानें ना बन जाए।

1    320 34

अतीत

Others

बंद गाड़ी में आज जब चैन से सफ़र करते है। स्कूटर पर चिल्ला कर बातें करना फिर भकझोर सा जाता ह...

1    467 31

गुलामी

Others

बिखर रहा है ये देश जातिवाद के नाम पर क्या गुलामी सही था भाईचारे के लिए

1    259 26

दुनियादारी

Others

वो जिनकी छाया में मैं हल पल महफूज रहता था, आज वो चीखने पर भी समझ नहीं पाते, उनके साथ हम दो कदम चल नह...

1    469 34

मुश्किल

Romance

आँखों में है तेरा चेहरा मगर सामने लाना मुश्किल है।

1    438 17

चाँदनी

Others

वह चाँदनी मिट गई, इमारतों के चकाचौंध में वो चाँदनी गई, मिठास ले गई। चौंधियाती आँखों में, अँ...

1    454 28

यादें

Abstract

यादों की घेराबंदी है, दिल वक़्त का ग़ुलाम है।

1    282 25

वक़्त

Others

ठहाका लगाता हुआ, दिल ने जोरों से कही तब जो है वह आज है बस यही ज़िंदगी है।

1    535 28

जाने कैसे

Tragedy

जाने कैसे हम इतने लाचार हो गए !

1    534 25

ज़िंदगी

Others

ज़िंदगी को मैंने जाना है... कम या अधिक, मगर जाना है।

1    1.6K 23

ख़्वाहिश

Others

तन्हाई में जो बैठो तुम ,मुझे कहानी समझ कर याद करना ,,,,

1    7.3K 38

एक सलाम हमारे सैनिकों के नाम

Inspirational

तुम भी ज़रूर रहे होगे, बचपन के दोस्त गलियाँ खेल, याद ज़रूर आते होंगे

1    1.8K 37