Quotes New

Audio

Forum

Read

Contests


Write

Sign in
Wohoo!,
Dear user,



दयाल शरण   Author of the Year 2018 - Nominee

Professionally a banker but my sole is for literature, music & tasty food.

  Literary Colonel

सुप्रभात

Inspirational

युग जीता है अब युग को जीतो वक्त संग चलने की तैयारी हो अब नर्म गाद का सुख छोडो दिन-भर लक्ष्य...

1    22 0

बड़े-बूढ़े

Inspirational

जिन्दगी अब भी नदियों सी गुजर तो रही है ऐ दोस्त, बस माँ-बाप रास्ता बताने को जहान में ना रहे। टो...

2    45 1

चूककर्त्ता

Others

यह तो बाजार है बेजार कहाँ से होगा, जेब छोटी मन बीमार हुआ जाता है। शौक इतनी की उधारी में घी पीक...

1    43 0

दिखावा

Abstract

मन में 'मैं' हूँ बाहर 'हम' फिर रिश्तों का बाजार लिए रिश्तों को भरमाने आये बेबस और...

1    158 0

विवेक

Abstract Inspirational

साफ़गोई कड़वी जरूर होती होगी, अहं पे चोट कोई बड़ी लगी होगी।

1    5 0

मन

Abstract

फिर बरसेंगे मेघ घटा फिर छाएगी सूखी झील में छम-छम पानी बरसेगा प्यास बुझेगी आस जो...

1    4 0

संवाद

Drama

बहुत सन्नाटा है।

1    5 0

सोच

Tragedy

सच की दुकानों पे अब सामान नहीं है।

1    219 0

मरीचिका

Others

धूप जो सुबह थी शाम तक ढल जाएगी

1    306 24

अनछुए

Abstract

एक तरफ इंद्रधनुष और एक तरफ कफन की तस्वीर।

1    79 0

चमक

Classics Inspirational

वह जो छलका है अनमोल, उससे ना सौदा कीजे...

1    110 1

तंगी

Inspirational

मैं भी एक बार सफल हुआ पर वह पतलून पापा की थी...

1    32 0

दौर

Inspirational

पलों को संदली बनादे, ऐसी नयी ग़ज़ल कहा कीजे...

1    74 0

आश्रय

Children Stories Inspirational

वे माँ-बाप थे जो अब तस्वीरों में चुप हैं हम कलेजे थे उनके, वे हमें लख्ते-जिगर कहते थे...

2    74 1

अपेक्षा

Others

गुजरते वक्त जरा कुछ लम्हे...

1    23 2

अकेलापन

Others

बहुत मुमकिन है तुम हंस दो तो मुस्कुरा वो दे बहुत मुमकिन है तुम्हारे गुनगुनाने पे नया एक काफिया...

1    89 2

मोहरे

Others

जिंदगी है पता नहीं फिर कभी मौका मिले या ना मिले आज हम ढाल हैं कल रहें, ना रहें जुबा को जुंबिशे...

1    314 33

शहर

Abstract

प्यास को प्यास भूख को भूख लड़ाती है भिड़ाती है बहुत गजब वाशिंदे हैं तमाम मसाइल हैं फिर भी चल रह...

1    291 18

रहनुमा

Inspirational

रोशनी को फ़कत आग, समझोगे तो जला बैठोगे घर। इसको चराग़े नूर बनकर, घर जगमगाना चाहिये।

1    3.8K 6

बरगदी-नीम

Drama Inspirational

वह जो बरगद है, नीम से जरा अलहदा है, बस इक को पूजते रहिये, और इक से सेहतमंद रहिये।

1    4.0K 6

आशियाना

Drama Fantasy

आंगन मे नीम तले झूलना झुलाते हैं बच्चों को हम अपने सफर के, सुनहरे पल गिनाते हैं मोम हैं वे जरा सं...

1    5.2K 5

चुनाव

Drama Tragedy

फिर मिलेंगे तो उनसे पूछेंगे सच जिन्हें सपनों से भरमा रहा है कोई

1    1.3K 3

दौड़

Drama Tragedy

फिर मिलूँ तो पहचान भी लेना मुझको ऐ दोस्त, मैं तुम्हारा बचपन हूँ, जवानी हूँ बस बुढ़ापे में ढल गय...

1    5.8K 3

सबक

Inspirational

ज़रा सी बात पे भीड़ जुटाने वालों हवा में घुल के संदली खुशबू सा महकना सीखो।

1    7.2K 9

रंग

Drama

जिंदगी कट जाती है, रूह को जिस्म में घर करते-करते...!

1    1.6K 7

जय घोष

Inspirational Others

सीता-राम उस रात अयोध्या लौटे थे वैसे ही सुख-संपदा का घर-घर आगम हो.

1    6.7K 2

हादसा

Inspirational

वो जो रोज देहरी पे आपकी बाँट जोहते हैं उनकी खातिर हादसों से जरा फासला बना कर चलिए।

1    6.8K 3

छोर

Drama

कलम दवात की, स्याही से ज्यादा कहाँ चलती है हदें तय हैं, दो छोरों की दूरी तय कर रहे हो।

1    6.7K 3

सफ़र

Others

रोशनी देख के फिर अँधेरे में जीना ऐ ज़िन्दगी बहुत लंबा सफ़र है।

1    1.3K 9

दशहरा

Drama Inspirational

अपनों के, सम्मान का अपमान, ना हो तो, शुभ दशहरा है...!

1    6.9K 3

संसर्ग

Drama

चलो कि आज और आगे साथ चलने का प्रण कर लें

1    7.0K 10

उजास

Drama Inspirational

हो सके तो रिश्तों में, नई उजास जगाओ तो सही...!

1    6.7K 11

संजीदा

Drama Others

रसोई से उठती है जिस रोज खुशबुओं की गमक, जीभ भी जायका सोचती है और त्यौहार बना देती है।

1    7.0K 10

विरासत

Drama Inspirational

बेफिक्र तितलियाँ पकड़ते रहिये क्यारियों में खिला हर फूल आपको सौंपा।

1    6.7K 5

कागजी विकास

Others

और उन सारे दिखावटी शानोशौकत को ताश के महल सा सच की हवा से ढहा जाता है दिवास्वप्न सा।

1    223 4

खुद्दारी

Drama

मकसदों में खुद्दारी की खनक बहुत जरूरी है

1    1.2K 8

कैफियत

Drama Inspirational

फिर लिखने बैठे हैं, इक नई कैफियत, यह सोच लिया है कि वे, जमाने का चलन जान जायेंगे...!

1    1.3K 8

बेताल

Drama Inspirational

खुद मुस्कुराओ ज़रा हमे भी ऐसा एक मौक़ा दे दो।

1    13.6K 14

त्यौहार

Drama Others

मंजिलें दूर कितनी भी हों, रास्तों को पता है कि आ रहा हूँ मैं।

1    1.4K 12

सोच

Inspirational

बेवजह फिर मशरिफ -मगरिब की बातें फिर से बे-अदबी, खलिश, बेसबब-सी जिद। रिश्ते निभाना भी इक इबादत है.....

1    1.5K 6

ठीकरा

Drama

अपनी गलतियों को न दोहराने की शिक्षा देती कविता।

1    1.3K 9

रिश्तों से परे

Others

यह उत्कर्ष है संबंधों में संवादों का यह तत्सम है

1    6.9K 9

मर्म

Others

शिक्षा होती तो साक्षर करती, ज्ञान होता तो पंडित गढ़ता, मगर तुम मर्म हो, जो साक्षर को, ज्ञान और जिन्दग...

1    6.8K 11

बंटवारा

Drama

वो तो सूरज है हम सब, उसके नूर बन जाए तो अच्छा...!

1    6.8K 12

हिदायत

Inspirational

अपने घर आप खुदा हैं तो बने रहिये, तसव्वुर में ही सही, कोई ख़याल बनाए रहिये।

1    7.0K 9

खबरें

Drama Tragedy

अब तो बदलो वतन की झूठी कसमे खाने वालों यह जो बाजार है यहाँ जरूरी सामान बिकने दो।

1    7.1K 11

नव वर्ष

Drama Inspirational

घर घर खुशहाली हो ज्ञान की अलख जले हर मन भाव में।

1    7.2K 9

एकाकी

Tragedy

अकेले होने का एहसास।

1    7.1K 11

स्व-मूल्यांकन

Drama Inspirational

गहराइयों से, बदन से, समन्दर बहुत विशाल सही, गला सूखे तो, दो घूँट पीने का पानी भी, कहीं रक्खा करो...!

1    6.7K 9

जिन्दगी और हम

Drama Inspirational

मुस्कुराएँ, गम को उगले जो बेहतर हो वही बोले मौन की भी अपनी जुब़ा है वर्ना जिन्दगी जीने नहीं देगी।...

1    6.8K 10

हार से जीत

Drama Inspirational

मुकाबले जीतिए, ना जीते तो, हौसला रखिये...!

1    6.8K 10

संवाद

Drama Inspirational

फिर बातें बेपनाह खर्च करने की याकि बेहिसाब जोड़ने की जब कोई हाथ बढाये सहारे को तो सिर्फ दिल की सुन...

1    7.0K 6

होली

Drama

यह जो सूना हो चुका है घर का आँगन उसकी थाती पे जऱा सा खुशियों को जीवन दें संदली उबटन कर दें।

1    1.1K 4

पहचान

Drama

हम भी इक जिस्म के इक रूह के मालिक हैं और फिलहाल बखूबी ज़िंदा हैं।

1    1.2K 11

संवाद परिधि

Inspirational Others

'बहुत आसान है फलसफा जिन्दगी का, मशहूर हों, पर पाँव, जमी पर रहे कि आप शहर में हैं।' शहर की भीडभाड में...

1    6.7K 11

परिंदों की उड़ान

Inspirational Others

'बुलंदी आसमान का तारा तो बना देती है जमीं पे रहके यह अहसास जज्ब रक्खा है।' एकता में ही बल होता है, ज...

1    7.4K 14

निर्वाह

Inspirational Romance

'वक्त रेत सा है फिसला तो फिसलता जाएगा मुट्ठियाँ बाँध लें यह रिश्ता है फिसलने ना दीजे।' जीवन को प्यार...

1    7.0K 13

समझ

Others

'समन्दर के गहरे में, पानी वही है, इसे खारा कहना, उसे मीठा कहना।' एक गर्भित अर्थ को समाये हुए सुंदर ...

1    7.5K 8

माहौल

Others

'खरीदें खूब, जब तलक जेब हो भारी, मगर यह रिश्ते हैं बेमोल, ऐ खरीददार आप शहर में हैं।

1    6.7K 8

स्वाद

Others

'मुनासिब नहीं हर वक्त तेरी पहरेदारी, ऐ शहर, ऐ तेरे दोस्त हर बलाओं से मंसूब रक्खें।' शहरी जीवन की कवि...

1    7.1K 10

अनवरत

Inspirational Others

'कुछ वक्त के, हालात हैं, बेचैन से, बेताब से, बेखौफ हो, आगे बढो, सबल बनो, निर्बल नहीं।' एक योध्धा हर ...

1    1.4K 22

वक्त

Inspirational Others

'कागजों में लिखकर, कब तलक संभालेंगे, शाम शबाब पे है, नई नज्म गुनगुना दीजे।' रिश्ते बनाना आसान है, नि...

1    6.9K 12

जुडाव

Inspirational

'बदला मौसम, सर्द रातों ने, ओढ ली रूई की चादर, तेरी खातिर मै न बदला, दोस्त, बुरा हूं तो बुरा हूं।' द...

1    7.1K 6

अस्पृश्यता

Action Drama Inspirational

उलाहने देने लगे हैं हाँ तुम जननी हो पर अब मै दुधमुहा नहीं हूँ।

1    7.5K 15

समझ

Others

'है अमावस तो थोड़ा इंतज़ार सही मौसम है बदलेगा थोड़ा इंतज़ार कीजे।' मौसम एक सा हमेशा नहीं रहेता, वो बदलता...

1    6.6K 3

खिडकी

Others

'बिखरती चंपा-चमेली की खुशबू से नहाती खिडकी पता है लौटके ना आयेगा फिर भी कोई टोटका खिड़की।' घर की खिड़...

1    6.9K 13

अपेक्षा

Others

'तुम तो बादल हो छाते हो, तो उम्मीद सी ले आते हो, धरा बेसुध है, पेड़ सूखे हैं, उन्हें नव-जीवन देते क्य...

1    7.2K 13

सावन

Others Romance

सानिध्य के आगमन का स्वागत एक प्रेयसी बनकर करने और अपनी भावनाओं का इजहार करने में प्रेरक माध्यमों का ...

1    6.6K 6

जुड़ाव

Drama Fantasy

धीरे-धीरे शाम ढलेगी जिन्दगी भी उसी तरह खुद को सिमेट लेगी

1    6.6K 8

सहज

Inspirational Others

'शहद से मीठे रस में भीगे, नभ से बूँद बरसने दो, सावन ने दस्तक तो दी है, धरा को उपवन होने दो।' प्रकृति...

1    7.0K 11