Quotes New

Audio

Forum

Read

Contests

Language


Write

Sign in
Wohoo!,
Dear user,



Renu Singh

  Literary Colonel

चुनमुन की डायरी

Drama

मैं स्कूल जाते समय रोज पार्क में कबूतरों के लिये चावल डालती, जिसे कबूतरों के साथ गिलहरी भी खाती। ...

2    292 0

हौसलों की उड़ान

Children Stories Inspirational

थोड़ी देर खामोशी, फिर विशू चहक कर बोली, "मम्मा, एक बात पूछूँ... आपने भी क्या किसी से प्यार किया था...

2    68 2

आ चल कहीं और चले

Tragedy

वो बूढ़ा वट वृक्ष सूनी आँखों से उन्हें आकाश में दूर जाते देखता रहा, अब वो कहाँ जाये, उसे तो कटना ही ह...

3    385 9

तीसरी बिटिया

Drama Tragedy Crime

घण्टे भर बाद दादी गोद में बच्चा लिए मुँह लटकाये, साथ ही स्ट्रेचर पर माँ। नर्स ने आकर सब सेट किया...

2    173 1

सांझा चूल्हा

Abstract

मैं रोज की तरह आज भी देर से लौटा,, गीता अभी दो रोटियां ही सेक पाई ,गैस खत्म,,। असहाय हमदोनों एकदूसर...

2    393 39

जज़्बात

Action Inspirational

जो हमारे लिए अपनी जान लूटा देते हैं, हम उनके लिए चार कदम चल, सलाम भी न करे, वो फिर बोल उठा.... वन्दे...

1    300 25

गुड़ियों वाला घर

Children

मन तो आज भी वही बारह बरस का हुआ पड़ा है।

2    272 12

वैजन्ती

Inspirational

आज बेटी माँ बन गई थी।

2    180 9

मेरा ठौर किसी से न बताना...

Drama

सिद्धार्थ ने ऐसे ही त्यागा होगा यशोधरा को, ऐसे ही छोड़ कर गये होंगे पुत्र राहुल को ।आश्रम की सीढ़ियों ...

7    14.6K 25