Quotes New

Audio

Forum

Read

Contests

Language


Write

Sign in
Wohoo!,
Dear user,



Pawanesh Thakurathi

* शौक तो बहुत सारे हैं जिंदगी में, मगर पढ़ने और लिखने का जुनून हद से ज्यादा है। * राष्ट्रभाषा और मातृभाषा से अत्यधिक लगाव। हिंदी में कविता और आलोचना की 7 पुस्तकें प्रकाशित। कुमाउनी में साहित्य की नवीन विधाओं में 8 पुस्तकें प्रकाशित। read more

  Literary Colonel

भीग रहे थे हम अंदर

Others

इंद्रधनुष के रंग बिखरे थे, घर के कोने-कोने में। जी करता था पागल मन का, कुछ से कुछ हो जान...

1    201 0

जब होता है प्रेम

Romance

ऐसा लगता है जैसे अभी-अभी हुई है सुबह जिन्दगी में।

1    2 0

भीगें प्रेम की बारिश में

Inspirational

दुख- सुख जीवन संगी हैं, जीते वही जो उमंगी हैं। जियें ख्वाबों की ख्वाहिश में, भीगें प्रेम की...

1    4 0

मुन्नी बदनाम नहीं होगी

Tragedy

शाम को मुन्नी खेत में जाएगी और गाय-बकरियों के लिए हरी घास खोजेगी।

1    321 0

दूरियाँ

Classics

दूरियाँ जो अब बढ़ती जा रही हैं बेल की तरह दूरियाँ जो खत्म होने का नाम ही नहीं लेतीं।

1    213 0

लेन-देन

Others

होते-होते एक दिन वह भी जेल गया और मैं भी जेल गया

1    1 0

वह चुलबुली लड़की याद आती है

Classics

मुझे स्कूल के दिनों की चौथे नंबर की बैंच पर बैठने वाली वह चुलबुली लड़की याद आती है।

1    169 1

नव वर्ष में कान्हा जी

Abstract

महंगाई का ना हो विस्तार बेईमानी का हो झट उपचार नव वर्ष में कान्हा जी ऐसी बंशी मधुर बजाना।

1    20 0

उसके जाने से

Romance Tragedy

वो चली गई मुझे छोड़कर उसी तरह जिस तरह चला जाता है कोई अपना पुस्तैनी मकान छोड़कर।

1    24 0

मोनाल

Tragedy

जितना खूबसूरत नाम है उतना ही खूबसूरत है यह पक्षी

1    3 0

एकाग्रता

Romance

तुम आई तो मेरी पलकें बस टिक गयी तुम पर

1    2 0

जिंदगी के खेल में

Others

कभी बालर चटकाये विकेट तो कभी बैट्समैन का होवे प्रहार

1    0 0

दो हमसफर

Others

सच कहूँ तो माँ और पिता दोनों मेरे साथ-साथ चलते हैं।

1    2 0

बाघ

Tragedy

राष्ट्रीय पशु की दुर्दशा पर दुख प्रकट करता कवि

1    1 0

पलायन की मार

Others

परंपरा गायब हुई खो गई सब रीतियाँ

1    69 1

छवि

Abstract

बारात गुजर रही है सरसों के खेतों से होकर गूंज रही है ध्वनि हवाओं में नगाड़ों की

1    273 2

भरी दुपहरी में मैंने चांद देखा

Abstract

न चाह कर भी यारों उसका होने लगा हूँ जब से मन मंदिर में घूमता उसे आजाद देखा।

1    22 0

सोलह कला

Others

उस हाथ से जिसमें क्षमता थी कई लोगों का भाग्य बदलने की।

1    21 0

तुम्हारा दिखना

Romance

तुम्हारा दिखना जैसे गुलाब का खिलना तुम्हारा दिखना जैसे छुई मुई का हिलना

1    66 1

भारत-सा कोई देश नहीं है

Others

भारत सा इस दुनिया में कोई देश नहीं है यारो। धोती और कुर्ते सा कोई वेश नहीं है यारो।

1    1 0

एक पति की व्यथा कथा

Comedy

हाय राम मैं अपनी ही, बीवी का सताया हूँ।

1    16 2

कुछ तो सीखें

Inspirational

निज भाषा को अपनायें निज संस्कृति के मोती पायें

1    23 1

कौन रचना बनती है कालजयी ?

Abstract

वह रचना जरूर एक दिन कालजयी बन जाती है।

1    28 2

ढाई आखर लिखते रहेंगे

Others

जिंदगी कटेगी नहीं तुम बिन मालूम है हमें इसलिए स्याही बनकर कलम में आती रहो। हम उम्र भर ढ...

1    237 3

मेरे सच्चे दोस्त हैं

Others

किताबें जो मेरे ज्ञान को समृद्ध करती हैं देती हैं प्रेरणा आगे बढ़ने की।

1    45 1

सातवाँ आदमी

Inspirational

सातवाँ बेचारा अकेला छूट गया। वह किसी से कुछ नहीं बोला

1    53 4

मारो ! मारो ! छक्का मारो !

Comedy

खुद को बताओ सचिन, और छक्का मारो।

1    327 4

शिक्षा व्यवसाय नहीं है

Inspirational

शिक्षा जो अब व्यवसाय बन गया है उसे रोकना होगा, पहले की तरह इसे निशुल्क बनाने की ओर कदम बढ़ाना होगा

1    2 0

शिक्षा व्यवसाय नहीं है

Others

पैसा-पैसा-पैसा सब पैसे का है तांडव पैसे से हारे सभी पांचों ज्ञानी पांडव

1    8 2

अबकी बार जून में

Children Stories

सूरज गुस्से में हुआ बावला पप्पू गोरा हुआ सांवला

1    250 3

आओ पेड़ लगायें

Inspirational

प्रतिदिन चिपको जैसा आंदोलन चलायें आओ पेड़ लगायें।

1    69 3

लालच मत कर ओ पप्पू

Others

जितना है, उसमें खुश रह कोशिश कर, जल में ना बह तृष्णा का कोई अंत नहीं सदा जीवन में बसंत नहीं

1    29 3

पूस की एक और रात

Tragedy

मरहम लगाने की कोशिश की जा रही है।

1    286 2

चलो चलें मतदान करें

Inspirational

वोट से ही जनता की शक्तियाँ झलकतीं हैं। वोट से ही सत्ताएँ बनती-पलटती हैं।

1    8 2

वीरों के गीत लिखूंगा

Inspirational

माँ मेरी ये भारत माँ, वीरों की जननी है। पर जयचंदों के कारण, इसका सीना छलनी है।

1    8 3

परिवार नियोजन

Others

रूढ़िवादी समाज को देश हित कदम बढ़ाना ही होगा

1    6 2

परियों के देश में

Children Stories

दोस्त जब छेड़े मुझको, पल में चूहा बना दूँ उनको। दादा-दादी रूठें तो, छड़ी घूमा मना दूँ उन...

1    118 11

लगा अर्जुन तीर निशाने में

Abstract

मत सोच कि तू चूक गया मत मांग किसी से भीख, दया बढ़ते जा, बढ़ते जा बाधाओं से लड़ते जा नहीं...

1    269 45

लौकी दीदी की बारात

Children Stories

मिर्च बिचारी खड़ी-ख़डी शरमा रही है देखो खाना परोसने में भी घबरा रही है देखो।

1    183 17

राजा अकेला खड़ा है

Inspirational

जुनून हो जब सीने में मज़ा है तब जीने में अकेले ही कर देगा वह दुश्मन के दाँत खट्टे

1    8 5

समय एक नदी है

Inspirational

लेकिन नदी कभी वापस नहीं लौटती वह बहती जाती है बहती जाती है और बहती जाती है

1    31 5

माँ की महिमा

Abstract

आसमाँ में कूची ले, रंग भर नहीं सकता।

1    61 5

मिलकर काम करें

Inspirational

आओ साथी आओ, मिलकर काम करें।

1    29 5

बिन पानी सब सून

Tragedy

सखी री बिन पानी सब सून।

1    36 5

बनमानुष और सुंदर युवती

Romance

युवती बोली चेहरे पे मत जाओ, तुम भीतर से सुंदर हो। अच्छे खासे इंसा हो, ना कि तुम बंदर हो।

1    278 37

जब मेढक ने पी मदिरा

Children Stories Comedy

नालायक बुद्धू सिरफिरा जब मेंढक ने पी मदिरा।

0    1 21

जब मेढक ने पी मदिरा

Children Stories Comedy

नालायक बुद्धू सिरफिरा जब मेंढक ने पी मदिरा।

1    88 5

फिर तुम्हारी याद आई सावन में

Romance

फिर तुम्हारी याद आई सावन में।

1    47 3

सपने में चाँद पर

Children Stories Comedy Drama

अजीब लोग थे वहाँ के, जैसे हों आदिमानव...

1    114 4

वृक्ष हमारे जीवन साथी

Inspirational

ये ही तो जीवन धन हैं, करो न इनकी बरबादी...

1    36 4

तुम्हारे जुल्मों की थाह नहीं

Tragedy

मैं ना रहूँ मगर रहे मेरी बेटी सिवा इसके कोई चाह नहीं।

1    456 56

जलते सपने

Tragedy

सुखद भविष्य के सपने जल रहे हैं धूं-धूं कर....।

1    33 3

मैं बादलों में खो जाऊँ

Children Stories

मन करता है मेरी मैया मैं बादलों में खो जाऊं।

1    16 5

चलो चाँद-तारों को छू लें

Inspirational

आ साथी ! मिलकर पग धरें, मनुज हित सच्चा कर्म करें।

1    246 21

प्यार का क्रिकेट मैच

Comedy Tragedy

इस भरी जवानी में ही, मुझे ओल्ड कर दिया।

1    261 48

राजनेताओं से

Abstract

लौट आओ, लौट आओ बाज आओ, बाज आओ ढोल पीटने से।

1    57 6

ओ पंछी ! तुझे गाँव बुलाता है

Abstract

दादी माँ के किस्से तुझको पुकारते हैं दादा के वो हाथ अब भी दुलारते हैं

1    38 7

जिंदगी की रीत

Abstract

कोई बुनता है, मेहनत के धागे कोई बढ़ता है, दौलत से आगे कहीं पर हताशा है घनघोर तो कहीं पर उम्मीद सा...

1    22 6

वो दिन भी कितने अच्छे थे

Children

पीठ में बस्ता हाथ में थरमस नजरें होतीं हमपे बरबस रूक जाने को कहता कोई जब हम दौड़ लगाते थे तब-तब ...

1    71 5

दसवीं कक्षा में फेल होने पर

Children Comedy Inspirational

करूँगा मेहनत तन-मन से। फेलियर का धब्बा मैं, मिटा दूँगा अपने फन से।

2    176 6

गुरु जी की मार

Comedy

गुरुजी मार में जादू होवे। अच्छे-खासों की अक्ल, ठिकाने लगा देवे।

1    581 28

हिमालय की वादियाँ

Drama

इन्हीं वादियों में मिलती है संजीवनी.. प्राणदायिनी...।

1    234 43

पहाड़ पर पहाड़

Inspirational

वैसे तो पहाड़ पर काँटों के सघन जंगल हैं परंतु कागज़ों में पहाड़ पर खिलते फूलों को दिखा दिया जाता...

1    251 53

बचपन के दिन

Children

उस दिन मैंने किताब खोली ही नहीं जिस दिन उन्होंने कहा कि किताब पढ़ना अच्छी बात है।

1    381 8