Quotes New

Audio

Forum

Read

Contests


Write

Sign in
Wohoo!,
Dear user,



Pooja Kaushik

  Literary Captain

सिलसिला

Drama Fantasy

काश तुम खरीददार बन जाओ, दिल ए नाचीज़ के तेरी खातिर हर दफा ये बिकते-बिकते रह गया।

1    14.1K 13

जी हाँ ,फर्क पड़ता है

Drama Others

हम रहें अकेले जीवनभर तो फर्क नहीं पड़ता, संग रहकर मुँह मोड़े कोई तो फर्क पड़ता है।

1    7.0K 6

ग़ज़ल इंतेहा ए इश्क

Drama

कैसे शिकवे गिले उस खुदा से करूं बेवजह ज़िन्दगी थी सफल हो गई !

1    6.8K 8

अरमान

Others Tragedy

जो भी नगमे लिखे तुम्हारे लिए खुद ही खुद को सुना दिए हमने

1    6.8K 9

भाभी मां

Inspirational

जीवन की चुनौतियों से अब थोड़ा थोड़ा वो भी थमने लगी है सच है...

1    1.5K 13