Quotes New

Audio

Forum

Read

Contests


Write

Sign in
Wohoo!,
Dear user,



Ravi Verma   AUTHOR OF THE YEAR 2019 - NOMINEE

कब्र पर मेरे सर उठा कर खड़ी हो ज़िंदगी, ऐसे मरना है मुझे

  Literary Colonel

भूलने की कोशिश में

Romance

उसकी फितरत बताता हूँ पूछने से पहले हर वादा तोड़ देता हूँ निभाने से पहले।

1    323 39

एक दिन

Romance

हाँ, उसने कहा बस एक दिन भूल गई।

1    301 51

तूझे किस तरह चाहूँ

Romance

जो आदमी बनूँ तो अकड़ जाऊँ जो औरत बनूँ तो सह जाऊँ जो मासूम बनूँ तो बच ना पाऊँ

2    275 6

बारिश और किसान

Tragedy

अपने पिता को बारिश के इंतजार में उसने बूढ़ा होता देखा था, वो अपने बच्चों को बूढ़ा होता नहीं द...

1    300 2

दूर खड़ा हो जाता हूँ मैं

Romance

मैं तुम्हारे पास होता हूँ घण्टों तुम्हारे इंतजार में, और सेकण्ड की सुई मुझे छू कर निकल जा...

1    103 2

उधार

Drama

झूठ बोलने वाली दो आँखें, कभी न थकने वाली दस उँगलियाँ, और, और, उधार !

1    132 4

मैं फिर भी लिखूँगा

Drama Inspirational

मैं भारत लिखता हूँ, वो माता हो जाती है, मैं जनता लिखता हूँ, तो भूखी सो जाती है !

1    2.6K 4

कौन हूँ मैं

Drama

समय की पुकार हूँ मैं, लम्हों की चीख हूँ। जीवन हूँ मैं, या मौत का प्रचार हूँ !

1    7.2K 9

टीस

Tragedy

प्यार की मीठी टीस।

1    7.0K 4

किसान कहता है

Drama Others

राजनीति पर प्रहार करती एक मार्मिक कविता...!

1    14.3K 4