Quotes New

Audio

Forum

Read

Contests


Write

Sign in
Wohoo!,
Dear user,



राही अंजाना

राही छायाचित्र कवि

  Literary Colonel

चिट्ठियाँ

Abstract

गर समझ में आये उन रंगों की तो वो मुठ्ठियाँ भरनी चाहिए।

1    1 0

जरूरी था

Abstract

कभी खुद का रूप भी न निहार सके बेगैरत जी तो लिया पर मौत न पा सके।

1    295 24

मररमत उसूलों की

Abstract

बना तो लिए बर्तन सोने चाँदी के भी कारीगर ने, के अमीरी में गरीबी की थाली यूँही खाली

1    1 0

माहिर

Abstract

साहिर - जादूगर ताहिर - गुणी अहिर - भक्त भगवान एक / अंतिम

1    68 5

हालात

Tragedy

निकल पाती ही नहीं कहीं मैं घर से चाहूँ जितना, डर का मेरे खुले बाज़ार में लगाता मोल

1    1 0

मेरी हिंदी

Inspirational

जो राष्ट्र है शरीर उसकी रीढ़ मेरी हिंदी, धर्म जाति के बंधन से जो मुक्त मेरी हिंदी,

1    2 0

कोई बोला नहीं

Abstract

मेरे हटने के बाद भी देखो किसी ने उसको तोला नहीं।

1    198 33

तारे नहीं दिखेंगे

Abstract

अभी से तुम्हें आने वाले अंगारे नहीं दिखेंगे।

1    162 47

कुबूल

Others Romance

जीतने का शौक तो हारने का खौफ़ भी है, मगर प्यार की हो बात तो हमें मात कुबूल है,

1    0 0

चाँद

Others

दूर तलक जितना भी कहीं दिखाई देता नहीं मेरा सनम, आँखों में चेहरा उतना ही गहरा देख लिया करती हैं आ...

1    211 0

कागज़ पर आदाब

Abstract

मैं आँखें मिलाने में तो ज़माने का लिहाज़ रखता हूँ।

1    6 0

खेल

Abstract

खुदा के दरबार में कोई बात तो खारी रक्खा करो।

1    349 2

किताबी पन्ने

Others

बेरंग आयत पर जब कभी कलम चलानी होगी

1    23 1

मोहब्बत

Others

मोहब्बत ज़ंजीरों में जकड़ कर जवाँ होगी नहीं,

1    31 1

ख़्वाब

Others

जो तूने प्रेम का ढाई अक्षर गर पढ़ा ही नहीं,

1    31 0

खड़ा रहा हूँ मैं

Others

नज़रें आसमान पर टिकाये ज़मीन से जुड़ा रहा हूँ मैं, हिला न किसी के हिलाने से बस अड़ा रहा हूँ म...

1    44 2

पापा जी

Classics

पापा रूपी पर्वत ही मेरा हौसला बंधाता है।

1    27 0

ख्वाहिशें

Drama

हर बार चेहरा बदलकर मुझको पकड़ती रहीं।

1    47 0

वोट दें

Others

विश्व पटल पर छप जाये अपने देश की तस्वीर, जागरूक करे जो हर जन को हो ऐसी कोई तरकीब,

1    64 2

कोई मिट्टी बता रहा है कोई

Abstract

जिस्म के आकार के इतने सन्दूक बना रहा है,

1    42 0

समझ का खेल

Abstract

एक दिन तो औजारों की आवाज़ समझनी होगी

1    63 1

सफ़र

Romance

एक बस उन्हीं पे मेरा कोई असर नहीं होता।

1    28 0

ठिकाना

Abstract

बदलकर खुश रहती है ऐसे ही वो चेहरे ज़माने भर के, मगर सच ही तो है इसका न कोई एक घराना होता है,

1    25 0

तिरंगा

Abstract

सो जाती है जहाँ रात भी किसी सैनिक को सुलाने में, अक्सर उस सैनिक को हर पल जगाता रहा हूँ मैं

1    25 1

अलविदा

Romance

आराइश में जिसकी मैं साँझ सवेरे बैठा, उसकी मोहब्बत में मैं खुद को घुला बैठा,

1    179 48

कठपुतली

Drama

स्त्री को नचाया जबसे इंसा ने कठपुतली बुनना छोड़ दी,

1    285 3

तरकश के तीर

Drama

तिरंगे में लिपटके बोले वन्दे मातरम् गीत थे।

1    82 2

संग बीता हुआ वक्त

Others

हर कदम पर साथ साथ चलने वाले भी देखो, आज संग बीते हुए वक्त को ही ज़ाया कहने लगे।।

1    43 0

मेरी माँ

Others

अपने आँचल की छाया में वो मुझको नज़र कर लेती है॥

1    166 4

मेरी ज़िन्दगी माई

Others

चन्द सिक्कों की ख़ातिर बिकती नज़र आती है ज़िन्दगी

1    67 0

बच्चा हूँ मैं

Children Stories

मगर चाहता हूँ जान लूँ के कहाँ पर अच्छा हूँ मैं।

1    104 1

दिलों के तार

Abstract

ब-मुश्किल ही बचे थे चन्द किस्से इस बचपन के, सुना है उसके भी किसीने पन्ने दो चार काट दिए॥

1    250 20

जानवर की खाल

Drama

बनाके परिस्थितियों का ही वो देखो जाल बैठ गया।

1    85 0

नशा

Tragedy

फिर क्या हुआ जो इस नशे ने तुम्हें ख़ाक कर दिया।

1    269 41

राही अंजाना सफर

Romance Tragedy

याद रह जाता गर प्यार में कोई सिफ़त होता, खत्म हो जाता इस तरह कि वो अगर नहीं होता...

1    126 1

शिकारा

Others

जब जुबां और दिल सब हार कर अकेले में बैठते हैं, तब मैं दर्द से भरी चुनिंदा तस्वीरों का सहारा लेता ह...

1    51 0

जंग

Drama

फैलाकर हाथों को यूँ ज़रूरी नहीं हो मुराद पूरी, खुदा के दरबार में कोई बात तो खारी रक्खा करो।

1    10 0

धरती माँ

Inspirational

तू मेरे सीने पर भार बढ़ाता एक पल को न शर्माता है, मैं रत्न सारे तेरे घर में भरकर भी बिल्कुल न इतरा...

1    50 0

हाथों में शिकारा

Drama

मैं पागलपन में भी लोगों के हाथों में शिकारा देता हूँ।

1    372 50

सफ़र

Romance

क्यों भला उनसे अब भी सबर नहीं होता,

1    54 0

जब हम छोटे बच्चे थे

Children

इससे तो बचपन के छोटे-मोटे किस्से अच्छे थे, जब हम छोटे बच्चे थे।

1    90 3

आईना

Drama

आँसुओं के सहारे से जोड़ने की आदत नहीं मुझको।

1    68 1

चोरी

Drama

'राही' तेरे आशिक ने कोई न रक्स चुराने दिया।

1    70 3

नशा

Drama

मोहब्बत किसको कितनी थी मालूम हुआ, जब नशेमन ने 'राही' सुला कर रख दिया।

1    9 0

सरहद

Action

जो होते हैं बलिदान सरहद पर, वो सैनिक कहलाते हैं।

1    6.9K 13

शहीद

Others

सरहद के रखवालों को नमन

1    56 3

बेटी

Tragedy

न अपने घर की चौखट में, न किसी गलियारे में सुरक्षित हूँ,

1    13.9K 8

शहीद

Inspirational Tragedy

जो बेरंगा हो जाता है, तिरंगे से लिपट कर

1    254 11

शहीद

Inspirational

हर शहीद की शहादत बयां करती रचना

1    153 7