Quotes New

Audio

Forum

Read

Contests

Language


Write

Sign in
Wohoo!,
Dear user,



Bharat Prasad Tripathi

  Literary Colonel

प्रतिरोध अमर है

Others

अपने वज़ूद की गिरवी रखना भर नहीं है न ही अपनी आत्मा को बेमौत मार डालना है

3    14.0K 4

आत्महत्या की सदी

Others

पानी अब पानी नहीं पेट का अन्न है

1    14.5K 5

पहरेदार हूँ मैं

Others

परत दर परत एक दिन खोल खालकर तुम्हें नंगा कर देंगे मेरे शब्द

2    13.6K 6

गूँगी आँखों का विलाप

Others

रोम रोम पर दर्ज़ है         तुम्हारे ख़ून पसीने का कर्ज़

1    13.4K 1