Quotes New

Audio

Forum

Read

Contests

Language


Write

Sign in
Wohoo!,
Dear user,



नवल पाल प्रभाकर दिनकर   Author of the Year 2018 - Nominee

मेरा परिचय प्रकाशित पुस्तकें 1 यादे (काव्य संग्रह) 2 उजला सवेरा (काव्य संग्रह) 3 नारी की व्यथा (काव्य संग्रह)

  Literary Brigadier

गरीबी तू जा

Drama Tragedy

आँखों में बसने वाली आशाओं का वो तारा टिमटिमाकर बुझ जायेगा उनका आशा रूपी वह तारा।

1    6.9K 4

बदलता परिवेश

Drama

बदलते परिवेश में बदले सारे देश धरती बदली मानव बदला बदला सबका भेष।

1    6.9K 6

आपकी कीमत

Drama

फिर तुमने अपने इस तन की क्या मामूली सी कीमत लगाई है।

1    1.4K 5

राखी

Drama

तुम हमेशा खुश रहो, राखी भले ही बहन मेरी कच्चे धागे की हो ।

1    1.2K 6

धूल के अन्दर

Drama Romance

धूल के अन्दर रह गया हूँ आज मैं फंसकर ।

1    6.7K 7

दुख ही दुख

Drama

और कुछ देने को आतुर हो अपने अन्दर भरे पड़े अथाह गहन धन कोष से शंख सिपियां बिखेर जाती हैं।

1    13.2K 9

एक बूंद

Drama Inspirational

गहरे घने बादलों में एक बूंद थी अटकी।

1    13.7K 5

क्षणभर का जीवन

Drama Inspirational

जीवन पानी पर लहरों-सा इस कोने से शुरू होकर जो उस कोने पर समाप्त हो जाता।

1    6.6K 4

प्रकृति और अन्धेरा

Drama

देखते आसमान के तारों को मन में नही होता उनके चैन गौधूली के समय से ही लगे हैं खेलने अपना खेल ।

1    13.3K 5

तेरे आँचल में

Drama

कौन कहता है पत्थर नही रोता रोता तो बहुत है मगर उसके रोने का हमें एहसास नही है होता...।

1    6.6K 3

प्रकृति देवी

Drama

जा रहा हूं हे प्रकृति देवी हंसकर मुझे तुम विदा करो।

1    13.2K 4

जाओ तुम

Drama

ओ मेघा यूँ मत अब बरसाओ पानी ।

1    1.2K 8

अन्जान हूँ

Drama

आँखे निस्तेज डरी हुई सी भय थिरकन से भरी हुई सी खतरा हर पल लगा हुआ सा गले में अटकी जान हूँ।

1    7.1K 2

हिन्दी साहित्य की व्यथा

Drama

मैं पड़ा हूँ पड़ा ही रहता हूँ क्योंकि मैं अब पूरी तरह से बूढ़ा हो चुका हूँ।

1    1.2K 2

कविताएं और दहेज

Drama Tragedy

मैं बेकार हूँ दहेज नही दे सकता यही तो दुराचार है ।

1    7.1K 5

प्रिये तुम

Drama Romance

ऐसी बहार प्रिये तुम लाओ। प्रिये तुम आ ही जाओ...।

1    7.1K 6

काले बादल

Others

वर्षा के मौसम में बादल किस प्रकार आकर धरती पर बरस ते है, उनका सुंदर वर्णन ।

1    13.3K 1

तलहटी में नदी

Fantasy

कवितामें कुदरत के प्राकृतिक जीवन का वर्णन किया गया है।

1    13.8K 6

लाचार औरत

Others

यह कविता जीवन की सच्चाई को प्रस्तुत करता है।

1    6.7K 7

आत्मा और परमात्मा

Others

आत्मा केसे प्रभु मिलन की कामना करती है, यही इस कविता में दर्शाया गया है।

1    7.0K 7

पानी की बूँद

Abstract Action

यह कविता पानी के विभिन्न स्वरूपो का वर्णन दर्शाता है ।

1    13.1K 11

मैं

Drama

मानता हूँ मैं कि सांवला जरूर हूँ। मगर मन का मैं बिल्कुल शीशा हूँ।

1    6.8K 4

सौंदर्या

Romance

यहॉं एक प्रेमी ने अपनी प्रेमीका का सुंदर वर्णन किया है।

1    6.8K 5

तमन्ना हो मेरी

Romance

यह कविता एक प्रेमी के मन के भाव दर्शाती है।

1    6.9K 6

संध्या

Drama

प्रकृति पर ये थोंप दिया काले रंग से तन पोत दिया ।

1    1.1K 2

हवा का झोका

Drama

क्यों बैठे हो तुम गुमसुम से, बैठे हो तुम क्यों यहाँ ?

1    6.9K 7

बसंत जी

Drama

हरियाली रूपी ओढ़ काम्बली आ गए महंत बसंत जी...!

1    13.9K 3

15 अगस्त

Drama Inspirational

मुझे खुशी होगी तब, जब इस देश से इन शत्रुओं का, नामोंनिशान मिटाकर, आराम से धरती की गोद में, मिट्टी मे...

3    13.8K 5

पानी

Drama Inspirational

जब इकट्ठा होकर, बहता हूँ कहीं, अपने अंदर समेट कर सब कुछ, बह निकलता हूँ।

1    13.8K 5

रात

Drama Romance

रश्मि सज-धज कर देखो चली है मिलने प्रियतम से।

1    1.2K 9

प्रियतम बसंत

Drama

सरसों पर पीलिमा छाई वायुदेव बयार चलाने लगे।

1    7.2K 4

पहली किरण

Drama

सूर्य की पहली किरण सिमट जाती लाली बनके।

1    1.2K 8

धान के खेत

Drama

धरा बन नई-नवेली दुल्हन आसमां से मिलने आई है।

1    1.2K 9

जर्जर खंडहर

Drama

आज पुराने जर्जर खंडहरों से आ रही हैं बस यही आवाज।

1    1.3K 2

ये आंखें

Drama

हां ये आंखें ही मेरे देश की आंखें हैं।

1    110 6

कुछ भी ना था

Drama

मेरे साथ कुछ भी न था जो देखा पीछे मुड़के।

1    6.9K 7

बेमिसाल मिसाल

Drama Inspirational

सबके लिये बेमिसाल मिसाल बन जा।

1    1.4K 6

तेरी जय हो

Drama Others

मनवांछित फल देने वाली समाहित अन्दर करने वाली रूप करोड़ों बदलने वाली हे सतरूपा, हे महामाया तेरी ज...

1    6.9K 4

मंजिल तेरे करीब

Drama Inspirational

हृदय पाषाण बना है जो वो हो जायेगा द्रवित तन की थकान मिट जायेगी हो जायेगा तन सुघड़-सुकोमल।

1    7.1K 9

मंजिल और राह

Drama

जो विरां लगती थी राहें आसान हुई हैं वो तुमसे...!

1    6.8K 7

सूने जीवन में

Drama Romance

तुम चहकती महकती खुशी से खिली आ जाओ बस मेरे सूने जीवन में...

1    6.9K 8

गरीब की बेटी

Crime Drama Tragedy

धन के भक्षी लोभी भेडि़ये से तंग आकर वह जल मरी श्मशान पहुंचने से पहले ही चिता बन घर में जल जाती है...

1    1.2K 10

हवा की आवाज

Drama Inspirational

खुद गूंगी होने पर भी यह बधिर चीजों से हमें जीवन का रहस्य समझाती है।

1    1.3K 9

नशा

Drama

क्यों ना मैं मयखाने जाऊं।

1    1.3K 8

मैं तुम्हारी हूं

Drama Romance

वैसे यदि ना मिलूं तो मुझे तुम जग से छिन लो।

1    1.3K 7

सीख

Drama Inspirational

जीवन हमारा ऐसा हो, जीवन हमारा ऐसा हो।

1    6.7K 4

फैशन की दौड़

Drama

कहां अभी स्वतंत्र हुए हम आजादी के इस दौर में।

1    6.9K 10

प्रिये तेरी खूबी

Drama Romance

तन मधु से ओत-प्रोत मन में तेरे विलाषिता।

1    7.5K 7

उच्च वर्ग

Drama

उच्च अट्टालिकाओं पर बैठे तुच्छ तुम्हारी औकात है क्या।

1    7.4K 9

सूना पथ

Drama

सुनसान अविचल धूप में नहाता हुआ, अकेला चिल्ला-चिल्लाकर पथिक तुझे पुकार रहा।

1    6.8K 8

धरती

Drama

मैंने उसको जब भी देखा, खिलते देखा उजड़ते देखा बहकते देखा महकते देखा...

1    6.8K 4

हिन्दी साहित्य

Drama

डुबे हुए बहुमूल्य शब्द चुन हिन्दी को बचाना चाहता हूं ।

1    7.1K 6

आत्मा ओर परमात्मा

Drama Romance

आई हूँ सजधज प्रिये तुम्हारे सामने...

1    6.7K 4

पानी की बूंद

Drama

मेरा एक अलग नाम है मेरी एक अलग पहचान है वर्षों पुरानी मेरी दास्तान है !

1    12.9K 5

गरीब बुढिया

Drama

आज लोग जिस्म पर भीख देते नज़र हैं आते !

1    7.0K 7

तुम्हारा सौंदर्य

Drama Romance

क्या इन्द्र की हूर हो...?

1    6.8K 10

तुम ही

Drama Romance

हाँ तुम ही तो हर खुशी हो मेरी !

1    7.1K 7

रास्ते का पेड़

Drama Inspirational

अनगिनत मुसाफिर आए इस रास्ते से !

1    6.7K 6

तेरी दासी

Drama Romance

हाँ मैं तेरी दासी बनकर तेरे चरणों में रह लूंगी।

1    7.1K 7

पृथ्वी

Drama

सूरज की आहत किरणों से दी है तुमने राहत मुझे !

1    13.9K 7

मोम के पंख

Drama

मोम के कोमल पंख लगाकर मैं क्यों सूरज को छूना चाहता हूँ ?

1    14.0K 6