Quotes New

Audio

Forum

Read

Contests

Language


Write

Sign in
Wohoo!,
Dear user,



Vrajesh Dave

  Literary Brigadier

Reasons Are Not There

Others

A girl on beach with a boy from city for one evening  

13    22.2K 372

हिम स्पर्श 70

Drama Romance

वफ़ाई और जीत आंखे ही प्रीत की डोर में बंधे हुए नैनों की भाषा में मूक प्रेम में डूब हुए आगे बढ़ते जा रह...

7    42 0

हिम स्पर्श 69

Drama Romance

मृत्यु के भय को त्याग जीत, वफाई को स्वीकार कर लेता है, किन्तु वफाई को लगता है कि उसकी कही बातों से प...

9    2 0

हिम स्पर्श 68

Romance

कोई ध्वनि नहीं, कोई व्यवधान नहीं। जीत का स्पर्श वफ़ाई को भावनाओं के समंदर के मध्य में खींच गया। वह उठ...

9    3 0

हिम स्पर्श 67

Romance

एक अजनबी से प्यार उसपर एतबार और बेबसी से उसका इंतज़ार करते जीत पल पल वफ़ाई के लिए बेबस सा पुरे दिन उह...

7    1 0

हिम स्पर्श 66

Drama

वफाई की गैर-मौजूदगी में जीत अपने अकेलेपन से लड़ता, अकेलेपन से बात करता, वफाई का चित्र कैनवास पर बनाने...

8    20 0

हिम स्पर्श 65

Drama

वफ़ाई के जाने के बाद जीत बहुत अकेलापन महसूस कर रहा था पर रसोई में खाना देख कर और वफ़ाई का पत्र पढ़ कर ज...

7    191 0

हिम स्पर्श 64

Drama

हिम देश की लड़की ,रेत के नगरी में मिली एक रंगों के जादूगर से। ....धारवाहिक एक नये आयाम की और बढ़ती हुइ...

8    20 0

हिम स्पर्श 63

Drama

जीत और वफाई के मध्य का प्रेम संवाद अब दार्शनिकता की राह मुड़ चला है। जीत की तबियत सही न होने की वजह स...

9    1 0

हिम स्पर्श 62

Romance

अच्छा हुआ तूने उसे आक्रंद करने में सहायता की। अन्यथा अंदर ही अंदर वह मर जाता। ‘नहीं मरेगा वह अब। ...

11    22 0

हिम स्पर्श 61

Romance

जीत और वफाई के मध्य की अंतरंगता पर विराम लगाते हुए, नियति ने मृत्यु को दोनों के बीच ला खड़ा कर दिया ह...

6    41 0

हिम स्पर्श 60

Romance

वफ़ाई चौंक गई। उसके होठों पर क्षण भर पहले जो नटखट स्मित था वह अचानक ही हवाओं में विलीन हो गया। नटखट ...

7    3 0

हिम स्पर्श 59

Romance

जीत और वफाई के मध्य कामुकता की जंग एक अलग ही स्तर पर पहुँच चुकी है। जीत, अलग अलग मुद्रा में वफाई को ...

6    21 0

हिम स्पर्श 58

Romance

“वफ़ाई, बस कुछ घंटे की बात है। मैं वचन देता हूँ कि आज रात्रि तुम अपने प्रश्नों के उत्तर के साथ शयन कर...

9    26 0

हिम स्पर्श 57

Drama Romance

वफाई और जीत के बीच अंतरंगता के प्रथम बीज को लेखक ने सुन्दरता से अंकुरित होते प्रदर्शित किया है, इस ल...

6    1 0

हिम स्पर्श 56

Romance

कुछ समय तक वफ़ाई प्रतिमा की भांति खड़ी रही, फिर पलकें झुकाई, उठाई और दोनों के बीच का सेतु तोड़ दिया। जी...

7    22 0

हिम स्पर्श 55

Drama

वफ़ाई के पूछने पर की जीत ने पहली बाद स्वप्न कब देखा, जीत ने कहा आज ही देखा है और फिर अपने स्वप्न को ...

7    21 0

हिम स्पर्श 54

Drama

जीत और वफाई की बातें दार्शनिकता से भर उठती है, साथ ही वफाई जीत से अपने प्रेम का इजहार भी कर बैठती है

5    0 0

हिम स्पर्श 53

Romance

जीत समीप खड़ा रहा, वफ़ाई को उसने पानी दिया। वफ़ाई धीरे धीरे स्वस्थ होने लगी। जीत शांत होकर प्रतीक्षा कर...

4    23 0

हिम स्पर्श 52

Drama

प्रेम के लिए एक स्त्री की अल्लाह से बहस का सुंदर चित्रण कथा के इस अंश में किया गया है तथा प्रेम को प...

5    262 0

हिम स्पर्श 51

Romance

एक युगल एक दूसरे से संकुचाते एक दूसरे के साथ रात्रि बिताते हुए। प्रेम में भरी व्यथा का सुंदर चित्रण ...

11    22 0

हिम स्पर्श - ५०

Drama Romance

जीत, तुमने कहा कि मौन के पास सब कुछ है। तुमने उसमें से कई का नाम भी लिया। किन्तु...

6    50 0

हिम स्पर्श 49

Drama

“सूरज बिलकुल भयभीत नहीं है, अत: मोहक लग रहा है। गगन भी रंग बदल रहा है। श्वेत से पीला, पीले से नारंगी...

6    130 0

हिम स्पर्श - 48

Drama Romance

हम भगवान का नामकरण करते हैं, यही तो भूल करते हैं। भगवान अविभाज्य है, अखंड है...

8    68 0

हिम स्पर्श 47

Drama

वह अभी भी कोई दुविधा में थी जिसे जीत समझ नहीं पा रहा था।

5    72 0

हिम स्पर्श 46

Drama

“भोजन के पश्चात इस मरुभूमि में यात्रा की योजना बनाई है मैंने। इस मरुभूमि में एक पर्वत है। पर्वत है छ...

10    67 0

हिम स्पर्श - 45

Drama Romance

जीत वफ़ाई के चित्र को रस पूर्वक देख रहा था। किसी विचार में था। उसके मन में कुछ...

8    67 0

हिम स्पर्श 44

Romance

“जीत, थोड़े शब्दों में तुमने सब कुछ कह दिया।“ उत्तर दिया।

6    258 43

हिम स्पर्श 43

Drama

क्या यह वास्तविक है अथवा कोई छलना? यह सापेक्ष है अथवा सत्य? क्या यह है भी? अथवा यह भी ईश्वर की भांति...

4    31 0

हिम स्पर्श - 42

Drama Romance

“केनवास पर रचे दो चित्रों को देखो। वह कोई संदेश दे रहे हैं तुम्हें। इसे पढ़ो। इसे समझो,“ जीत ने उत्तर...

9    107 0

हिम स्पर्श - 41

Drama Romance

जीत मौन हो गया। वफ़ाई इस मौन का अर्थ भली-भाँति जानती थी। वह चित्राधार तरफ गई, चित्र रचने में व्यस्त ह...

10    27 0

हिम स्पर्श- 40

Romance

वफ़ाई, जीत के समीप गई। जीत भयभीत हो गया, स्थिर सा खड़ा रहा। उसके हृदय की गति तीव्र हो गई।

8    426 52

हिम स्पर्श - 39

Drama

“ओह, चित्रकार। अंतत: तुमने यह कर दिखाया। यह सुंदर है, अपेक्षा के अनुरूप है। यह सहज है, एक बालक की भा...

8    112 4

हिम स्पर्श- 38

Drama Romance

वह कुछ भी नहीं बोल पाई। वफ़ाई के बालों की लटें हवा में उड़ रही थी, वह सब कुछ कह रही थी। जीत उसे सुनता...

5    209 6

हिम स्पर्श - 37

Abstract Romance

वफ़ाई ने नमाज पूर्ण की। उसने देखा कि जीत झूले पर मौन बैठा था। वफ़ाई ने उस मौन को भंग करने की चेष्टा नह...

7    135 3

हिम स्पर्श- 36

Abstract Drama

वफ़ाई कुछ भी निष्कर्ष पर नहीं आ सकी, अधिक दुविधा में पड़ गई।

9    111 5

हिम स्पर्श- 35

Drama Tragedy

वफ़ाई ने पेंसिल, रब्बड़, तुलिकाएँ, रकाबी, रंग सब तैयार कर दिया, चित्रकार के लिए सब कुछ तैयार था।

6    260 11

हिम स्पर्श - 34

Tragedy

वफ़ाई ने उससे बात करना चाही, किन्तु जीत ने कोई प्रतिभाव नहीं दिया, वह मौन रहा।

7    256 8

हिम स्पर्श - 33

Drama

जीत ने वफ़ाई की तरफ देखा,”अब क्या कहना है तुम्हारा ?“ वफ़ाई के मुख के भाव बदल चुके थे।

6    92 3

हिम स्पर्श - 32

Inspirational

जीत ने भी पूरी निष्ठा से उसे सीखा। जीत को अब एक कला का ज्ञान था, चित्रकला।

7    132 4

हिम स्पर्श - 31

Romance

“मैं तुम्हें समय के उस काल खंड में ले चलता हूँ। तुम उसे अपनी आँखों से देखो, स्वयं ही उसे महसूस करो।"

10    102 2

हिम स्पर्श- 30

Drama Romance Tragedy

वह भुज से कच्छ के रण में गया, वहीं रुक गया। सारे संसार से अलग, गुप्त और अकेला। कोई नहीं जानता था कि ...

9    155 7

हिम स्पर्श- 29

Drama

नेल्सन जीत के पास आया, “जब तुम जानते हो कि तुम्हारे पास बची हुई जिंदगी का गणित कोई लंबा चौड़ा नहीं है...

5    278 13

हिम स्पर्श - 28

Romance

एक गरम चुंबन और एक उन्माद से भरा आलिंगन, दोनों ने एक दूसरे को दिया और अलग हो गए। दिलशाद घर लौट गई।

5    221 8

हिम स्पर्श- 27

Drama

“उससे एक फायदा होगा। यदि उसे हम दीवार में फंसा दें तो नली का रास्ता थोड़ा खुल जाएगा जिससे साँसों का आ...

4    396 17

हिम स्पर्श - 26

Drama

वास्तव में पीड़ा हिम के टुकड़े से नहीं है परंतु उस पर जमी मिट्टी की परत से है

4    228 9

हिम स्पर्श - 25

Drama

डॉ॰ नेल्सन मेरे अच्छे मित्र है। मैं उससे बात कर लूँगा। वह आप की कोई मदद कर सके.........

5    333 14

हिम स्पर्श - 24

Romance

दिलशाद कोई किताब पढ़ने लगी। रात धीरे धीरे गहरी होने लगी। ठंड बढ़ने लगी। दोनों एक दूसरे के आलिंगन में...

6    213 8

हिम स्पर्श- 23

Others Romance

“खास कुछ नहीं। मैं तो बस कुछ भिन्न करना...।” जीत ने उत्तर अधूरा छोड़ दिया। वह शब्दों को चुराने लगा, ह...

6    183 8

हिम स्पर्श - 22

Drama

जीत को अनुभव हुआ कि किसी ने उसके हाथों में खरोंच कर दि हो। वह थोड़ा अधिक पीड़ादायक था तथापि जीत ने आँख...

5    230 7

हिम स्पर्श - 21

Drama Romance

निर्जन मार्ग अब व्यतीत हुए क्षणों से भरपूर था, किसी के साथ होने की अनुभूति से भरा था।

6    138 5

हिम स्पर्श 20

Inspirational Others

वफ़ाई कुछ भी समझ पाये उससे पहले जीप का द्वार बाहर से खुला और चाबी के साथ एक हाथ अंदर आ गया।

5    220 9

हिम स्पर्श 19

Drama

वफ़ाई क्रोधित हो गई और कक्ष में दौड़ गई। बाकी का समय मौन हो गया। कोई किसी से कुछ नहीं बोला।

7    240 11

हिम स्पर्श 18

Inspirational Others

“यही कि तुम अपनी सारी तस्वीरें वापिस चाहती हो और वह मिलते ही यहाँ से भाग जाना चाहती हो।“जीत ने वफ़ाई ...

9    271 13

हिम स्पर्श 17

Drama

एक बड़ा सा काला बादल गगन में छा गया, सूरज को अपने आँचल में छुपा ले गया।

5    251 11

हिम स्पर्श 16

Drama

“वफ़ाई, मैं कोई साधू-संत नहीं हूँ कि तुम मेरे शरण में आ कर रहो।“

7    246 12

हिम स्पर्श 15

Drama Romance

दोनों में से कोई नहीं जानता था कि कैसे प्रारम्भ किया जाय, कहाँ से प्रारम्भ किया जाय ?

4    191 8

हिम स्पर्श 14

Drama Tragedy

यदि हम उसके घर चले तो....“ऐसा करने की आवश्यकता नहीं है।“ उस अधिकारी ने फोन घुमाया।

5    336 16

हिम स्पर्श 13

Drama Fantasy Romance

जीत की आँखों के सामने पूरा घटनाक्रम आ गया जो आज संध्या को हुआ था। वह उसमें धूमिल हो गया। वह आनंदित ह...

5    359 14

हिमस्पर्श 12

Drama Romance

जीत के अंदर पुन: कोई हिम जम गया। वफ़ाई ने उसे भाँप लिया किन्तु स्मित से टाल दिया।

9    285 11

हिम स्पर्श 11

Drama Tragedy

मेमरी कार्ड कंगाल हो गया, वफ़ाई भी। लेपटोप समृद्ध हो गया उन तस्वीरों से।

5    186 7

हिम स्पर्श 11

Drama

युवक क्रोधित था। वफ़ाई लज्जित एवं भयभीत थी। वफ़ाई युवक के घर में चोरों की भांति घुस गई थी और रंगे हाथ ...

5    199 8

हिम स्पर्श 10

Drama

वह ध्वनि मकान के नीचे वाले दायें भाग से आई थी। ध्वनि बड़ी थी, जैसे कोई भारी वस्तु ऊँचाई से धरती पर गि...

4    1.1K 16

हिम स्पर्श 09

Drama

जहां पंखी होते हैं वहाँ जीवन अवश्य ही होता है। मैं विश्वास करती हूँ कि वहाँ कोई अवश्य होगा। “वफ़ाई, ...

8    315 13

हिम स्पर्श 08

Drama

ना तो उसे कल की चिंता थी ना उसे अनावृत होने की। और ना ही चिंता थी उसे कि इस अवस्था में कोई देख लेगा ...

11    1.5K 9

हिम स्पर्श -07

Drama

दीवार के एक कोने में, सुंदर पहाड़ का द्रश्य अपने में समेटे हुए, एक तस्वीर लटक रही थी। वफ़ाई उस की तरफ ...

7    270 13

हिम स्पर्श - 06

Drama

तीव्र, गहन और घुमावदार घाटियों में ऐसी ही गहरी और अनंत शांति को तुम प्रत्येक दिन मिलती रही हो। क्या ...

5    850 9

हिम स्पर्श - 05

Others

मरुस्थल का उत्सव चार दिन पहले ही पूरा हो गया। इस नगर को छोड़कर यात्री जा चुके है। यह तो अस्थाई नगर है...

5    392 18

हिम स्पर्श - 04

Drama

पर्वत के साथ बीते सुंदर क्षणों को अपने अंदर समेटे हुए वफ़ाई यात्रा पर निकल पड़ी।

7    2.0K 13

हिम स्पर्श - 03

Others

तुम्हारी यह यात्रा, यात्रा में मिलने वाले व्यक्ति, यात्रा के अनुभव, घटनाएँ…. आदि सब सुनने के लिए मैं...

8    310 11

हिम स्पर्श - 2

Drama

मकान और नगर धीरे धीरे पीछे छूटते जा रहे थे। जीप के दर्पण में वफ़ाई को यह सब कुछ दिखाई दे रहा था। वफ़ाई...

5    426 11

हिम स्पर्श १

Drama

प्रकाश का एक पुंज मंच पर उभरने लगा जिसमें वफ़ाई दिखाई दे रही थी। वह शांत थी। वह वातायन से दूर गगन की ...

9    4.7K 16

ભાગતા રહો

Others

કથાની શોધમાં ચહેરાઓથી ઉભરાતા શહેરને છોડીને જ્યારે હું એક આદિવસી વસ્તીમાં જવા યાત્રા કરું છું ત્યારે ...

13    14.6K 11

કશુંક શોધી તો જુઓ

Others

ઈર્ષ્યા મનુષ્યની પ્રગતિમાં સહાયક પણ છે અને બાધક પણ છે.

8    6.8K 6

આ નગર, તે નગર

Others

તું આ નગરમાં જઈશ? આ નગર સાથે ક્યાં કોઈ પરિચય છે તારે?

10    13.3K 9