Quotes New

Audio

Forum

Read

Contests


Write

Sign in
Wohoo!,
Dear user,



Bharat Bhushan Pathak

मैं अभी  साहित्य के क्षेत्र में बहुत बड़ा नाम तो नहीं पर प्रयासरत हूँ।इसी कारण से मैंने अपना लेखन नाम तुच्छ कवि भारत रखा हुआ है।इस अभिलाषा के साथ मैं भी  एक न एक दिन अवश्य ही साहित्य के आसमान में बेखौफ उड़ पाऊंगा ।मेरी रचनाओं ने बस अभी  जन्म ही लिया है।अतएव मैं भी  अभी बस जन्मा हूँ। read more

  Literary Captain

Cruel Destiny

Tragedy

For some moment I had decided to stay there and just began to goggle at him...

2    383 43

चाॅकलेट्स

Tragedy Inspirational

जब वो बच्ची थी हमेशा पानवाले से चॉकलेट मांगती थी, नहीं मिलने पर बच्चों के साथ आक्रमण कर देती, आज वो ...

4    303 9

नीलिमा

Others

उस पर माँ शारदे का वरदहस्त रहता था। इस कारण ही तो वह अभी तक सहस्ररश्मि की तरह ही प्रकाशवान थी

1    159 5

नासमझ प्रेम

Romance

किशोरावस्था के प्रेम और उसमे होने वाली घबराहट को दर्शाती कहानी

5    30 0

ज़हर का सौदा

Tragedy

अवनेश मेधावी छात्र था, आगे की पढ़ाई करने वो मुम्बई आ गया, पर यहाँ आ कर वो नशीले चीजों के धंधे में फं...

4    301 1

नन्हीं कलि

Drama

लक्ष्मी अब हिम्मत करके अपने पिता से कहती है ....पिताजी ये आप क्या कह रहे हैं।आप बड़े हैं।आप मुझसे क्ष...

5    148 1

मासूम की भूख

Drama

वह थी तो खुद भी मासूम ही न इसलिए कभी -कभार जब परेशान हो जाती तो वह अपने मासूम भाई के माथे पर चूमते ह...

2    329 51

वो अबला नहीं सबला थी

Action Tragedy

वो पागल की भाँति चिल्लाते हुए उनके पास जा-जाकर बार-बार यह कहने लगे कि:- "वो अबला नहीं सबला थी।"

4    279 2

जिन्दगी की जद्दोजहद

Drama

ऐसे लग रहा था कि मानो सी०आई०डी०ने मर्डर केस शाॅल्व कर दिया हो।

1    483 18

मेरी अपनी आत्मकथा

Abstract

यदि मैं उस दिन खड़ा न होता तो आज मैं नहीं लिख पाता।इसलिए मैंने लिखा है न:- " आप बुलन्द हो न हो हौसल...

3    191 2