नए नए तराने बन रहे हैं भरी महफिल में छेड़े जाएंगे हम रहे या ना रहे लोग हमें महफिलों की शान बताएंगे

By Sonam Kewat